भाजपा की यह सम्मान यात्रा नही, शर्मयात्रा है – कमलनाथ

हम किसानो पर अत्याचार नही होने देंगे – कमल नाथ
जिले के युवाओ एवं बिगडती बाजार व सामाजिक व्यवस्थाओ पर भी भाजपा को घेरा
छिंदवाडा :-भाजपा की यह सम्मान यात्रा नही, शर्मयात्रा है- प्रदेश की सत्ता मे काबिज भाजपा सरकार द्वारा प्रदेश  के विभिन्न हिस्सो मे निकाली जा रही किसान सम्मान यात्रा पर तंज करते हुये  कमलनाथ ने कहा कि यह प्रदेश का दुर्भाग्य है कि स्वयं का किसान का बेटा कहनेवाले मुख्यमंत्री के शासनकाल मे प्रदेश के किसानो को विगत 14वर्षो से अपमानित किया जा रहा है। किसानो ने अपमान झेला, उन्हे जेल भेजा गया, अपने हक की आवाज उठाने पर किसानो पर गोली चली और तो और कर्ज व सूखे की तंगी से परेशान किसानो ने कभी फासी लगाकर तो कही जहर पीकर आत्महत्या कर ली। ऐसे प्रदेश मे अपनी विफलताओ को छिपाने के लिये यदि प्रदेश सरकार किसानो के लिये सम्मान यात्रा निकालती है तो यह शर्मनाक है । इसे शर्मयात्रा कहना चाहिये। 

इस अवसर कमलनाथ ने कहा कि भाजपा सरकारो ने किसानो, नौजवानो, व्यापारियो, महिलाओ व आमजनता को छला है उन्हे धोखा दिया । कभी गरीबो के खाते मे 15 लाख जमा करने का झूठा वादा तो कभी 2 करोड रोजगार देने की झूठी घोषणा, कभी नोटबंदी के नाम पर कालाधन लाने की बात तो कभी अच्छे दिन का सपना यह सभी वादे और दावे शगूफा बन कर रह गये है। श्री नाथ ने सभी से सहयोग और परिवर्तन लाने का आव्हान करते हुये कहा कि हमसभी को मिलकर आगे का लंबा रास्ता तय करना है।
 जिले के सांसद एवं पूर्व केंद्रीयमंत्री कमलनाथ ने जुन्नारदेव ब्लाक के ग्राम रिछेडा, दमुआ ब्लाक के ग्राम नंदौरा, परासिया ब्लाक के ग्राम बाघबर्धिया व सौसर विकासखंड के ग्राम निमनी मे जनसभाओ को संबोधित करने के साथ ही धार्मिक आयोजनो मे अपनी उपस्थिति दी।  
किसानो को परेशान न करे :- जुन्नारदेव विकासखंड के ग्राम रिछेडा मे कमलनाथजी ने देश  व प्रदेशकी भाजपा सरकारो की किसान विरोधी नीतियो को उजागर करते हुये कहा कि भाजपा ने अपने शासनकाल मे किसानो की उपेक्षा की है। एक और वह अपने आपको किसानो का हितैषी बताते रहे जबकि दूसरी ओर आपदाकाल मे उन्होने किसानो की सुध नही ली। वर्तमान मे कभी अतिवृष्टि, कभी ओलावृष्टि तो कभी सूखे की मार झेलनेवाले किसान से विधुत विभाग जबरिया वसूली कर रहा है। यह दुर्भाग्य का विषय है कि बिल की राशि मजबूरीवश अदा न होने की स्थिति मे विधुतकर्मियो द्वारा किसान की चल संपत्ति यहां तक कि बच्चो के वाहन भी जब्त किये जा रहे है । यह बात अमानवीय है। उन्होने कहा कि यदि अब जिले मे ऐसी स्थिति बनी तो किसान उन्हे स्पष्ट रूप से बताये कमलनाथ उनके साथ है।
इस अवसर पद कमलनाथ ने जिले के युवाओ एवं बिगडती बाजार व सामाजिक व्यवस्थाओ पर भी भाजपा को घेरा। उन्होने कहा कि महिला अत्याचारो मे आज देश  मे मध्यप्रदेश अव्वल है जबकि प्रदेश की भाजपा सरकार बेटी बचाओ बेटी पढाओ का नारा लगा रही है। गौरतलब बात तो यह है कि वर्तमान मे घटित महिला अपराध, दहेजप्रताडना, पारिवारिक संबंध विच्छेदो की घटना मे भाजपा के नेताओ की सबसे अधिक सहभागिता है।
नंदौरा मे सांसद ने सुनी परचरी पुराण कथा :- मालवा निवाड अंचल के प्रसिद्ध कथावाचक श्री रमेश जी महाराज द्वारा दमुआ ब्लाक के ग्राम नंदौरा मे जारी परचरी पुराण कथा के कार्यक्रम मे उपस्थित होकर श्री नाथ ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुये आयेाजनसमिति के सभी सदस्यो को बधाई दी। इस अवसर पर उन्होने भी पहली बार परचरी पुराण कथा का श्रवण किया। इस कथा मे प्राणी व गौमाता से जुडी कथाओ को प्राथमिकता दी जाती है। कबीरयुगीन संत सिंघाजी महाराज के वंशज रमेश जी महाराज द्वारा प्रस्तुत कथाये निर्गुणधारा के साथ ही जनकल्याण हेतु प्रस्तुत की गयी।
        ज्ञात हो कि खंडवा जिले के सिंघाजी धाम मे समाधिष्ट सिंघाजी महाराज ने अपने जीवन मे 2500 से अधिक भजनो की पदावली की रचना की तथा हजारो गायों की सेवा की। ऐसे प्रबुद्ध संत के नंदौरा आगमन पर कमलनाथ ने रमेश जी महाराज का शाॅलश्रीफल से स्वागत करते हुये कहा कि ऐसे आयोजन संपूर्ण जिले मे होने चाहिये ताकि कथा का धर्मलाभ सभी जिलेवासियो को मिल सके। उन्होने कहा कि हमारा जिला सामाजिक सदभाव का जिला है और ऐसे आयोजनो मे वे सदैव अग्रणी रहते है। गायत्री परिवार एवं यदुवंशी परिवार के संयुक्त तत्वाधान मे आयोजित इस कार्यक्रम मे घन’यामयदुवंशी राजेश पाल श्यामलाल हिटलरलोबो कमलनाथयदुवंशी  राजेश अटलखरे छोटूपाठक व विनोदनिरापुरे का योगदान रहा। इस अवसर पर सांसद कमलनाथ को स्मृतिचिन्ह भेंट करते हुये कथावाचक श्री रमेश जी महाराज ने कहा कि जब सिंघाजी कथा पढते थे तो स्वयं भोलेनाथ आ जाते थे आज यहां कथा सुनने स्वयं कमलनाथ आये है।
आदमकद प्रतिमा पर किया माल्यार्पण :- भारतीय संविधान के निर्माता डाॅ भीमराव अंबेडकरजी की 127वी जयंती के अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव व जिले के सांसद श्री कमलनाथजी ने स्थानीय सत्कार तिराहे पर स्थापित बाबासाहब की आदमकद प्रतिमा पर श्रद्धा के फूल अर्पित कर उन्हे ह्दय से याद किया। इस अवसर पर श्री नाथ ने पंच’ाील ध्वज का रोहण कर जयंती दिवस के कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
आयेाजित समारोह मे अपने उदबोधन मे श्री नाथ ने कहा कि बाबासाहब का संपूर्ण जीवन अनुकरणीय है। उन्होने न केवल स्वतंत्र व अखंड भारत के संविधान  की रचना की बल्कि उस दौर के अफ्रीका जैसे देशो को लेखन व शब्दो का ज्ञान दिया, उन्हे सिखाया। भारत के नवनिर्माण के लिये समर्पित बाबासाहब अपने परिनिर्माण तक मानवता के लिये समर्पित रहे। इस अवसर पर छिंदवाडा मे निर्माणाधीन मेडिकल कालेज का नाम डाॅ भीमराव अंबेडकर किये जाने की मांग पर अपनी सहमति व्यक्त करते हुये कमलनाथ ने कहा कि मैं भी इसके पक्ष मे हॅूं और यदि वर्तमान प्रदेश  सरकार इस ओर ध्यान नही देती हेै तो निकट भविष्य मे प्रदेश मे स्थापित होनेवाली कांग्रेस की सरकार इस कार्य को पूर्ण करेगी।
सेवादल ने किया परिचर्चा का आयोजन :- भारतीय संविधान के निर्माता डाॅ भीमराव अंबेडकरजी की 127वी जयंती के अवसर पर स्थानीय राजीव भवन मे जिला कांग्रेस सेवादल ने एक परिचर्चा का आयोजन कर अंबेडकरजी के जीवनवृत्त पर प्रबुद्ध वक्ताओ से उनके विचार सुने।
परिचर्चा से पूर्व जिला संयोजक सुरेश  कपाले सहित दल के सभी सदस्यो ने बाबासाहब के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हे श्रद्धांजली दी।
Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *