बता दें कि 2018 में 8 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने थे जिनमें से तीन राज्यों में चुनाव हो चुके हैं. शेष 5 राज्यों कर्नाटक, मिजोरम, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में 2018 में चुनाव होने हैं. इसके अलावा 2019 में आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, महाराष्ट्र, ओडिसा, सिक्किम और तेलंगाना में चुनाव होने हैं.

सरकार में वन नेशन वन इलेक्शन के हिमायती लोगों का कहना है कि छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान की विधानसभाओं का कार्यकाल दिसंबर में खत्म हो रही है. अत इन राज्यों में राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है. इसके अलावा मिजोरम को भी मनाया जा सकता है. वहीं 2019 में 9 राज्यों में विधानसभा के चुनाव होने हैं इनमें से अधिकतर में एनडीए की सरकार है तो उन्हें समय से पहले चुनाव कराने के लिए मनाने में आसानी होगी. इस फॉर्मूले से लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव कराने के लिए कुल राज्यों की संख्या बढ़ाकर 11 की जा सकती है.