आधुनिक शिक्षा के साथ-साथ जरूरी है नैतिक शिक्षा -राज्यपाल श्रीमती पटेल

मर्यादित रहना सीख जाते है, जो जिंदगी भर उन्हे संस्कारवान बनाये रखने में सहायक होती है
बड़वानी :- प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने सोमवार को सेध्ंावा में विद्याकुंज इंटरनेशनल स्कूल भवन का लोकार्पण करते हुए शिक्षको से आव्हान से किया कि वे बच्चों को जरूर आधुनिक शिक्षा दे, किन्तु उन्हे अपनी संस्कृति परम्परा से भी अवश्य अवगत कराये। जिससे युवा सही मायेन से राष्ट्र के निर्माता बन सके।
लोकर्पण कार्यक्रम में उपस्थित पालको से भी राज्यपाल ने आव्हान किया कि बच्चों को संस्कारी बनाने में पालकों का विशेष महत्व होता है। इसलिए हमें सजग रहकर उनके क्रियाकलापों पर नजर रखकर उन्हें स्नेहपूर्वक अच्छी बातें सिखाना होगी। इसके लिए उन्होने पालको को उदाहरण देकर बताया कि यदि स्कूल से बच्चा किसी साथ की पेंसिल या जाने-अनजाने में कोई भी चीज उठा लाये तो उसे बताना चाहिए कि यह गलत है। इसलिए वह कल स्कूल में यह चीज शिक्षक को देगा और माफी मांगेगा। इससे बच्चे प्रारंभ से ही मर्यादित रहना सीख जाते है, जो जिंदगी भर उन्हे संस्कारवान बनाये रखने में सहायक होती है।
वही राज्यपाल ने शिक्षको से भी आव्हान किया कि प्रायमरी स्कूल के विद्यार्थी अपने पालको से भी ज्यादा तव्वजों शिक्षको की बातों को देते हैं इसलिए शिक्षक बच्चों के सामने हमेशा आदर्श प्रस्तुत करे। जिससे भारत के नौनिहाल ओर बेहतर राष्ट्र के निर्माता बन सके।
कार्यक्रम के दौरान राज्यपाल ने शिक्षण संस्था संचालको से भी आव्हान किया कि वे बच्चे को आधुनिक शिक्षा उपलब्ध कराने में मददगार आधुनिक संसाधन का खूब उपयोग करे। जिससे पिछड़े क्षेत्रो के बच्चो को भी आधुनिक शिक्षा अपने घर-गांव में ही रहकर प्राप्त कर सके।
कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के पशुपालन मंत्री श्री अंतरसिंह आर्य, नगर पालिका सेंधवा की अध्यक्ष श्रीमती बंसतीबाई यादव, कलेक्टर श्री तेजस्वी एस नायक, पुलिस अधीक्षक श्री विजय खत्री, शिक्षण संस्था के पदाधिकारी, पालक, विद्यार्थी, नगर के गणमान्य बड़ी संख्या में उपस्थित थे।
                                                                                                                                                                   बड़वानी से शिवपाल सिसोदिया
Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.