केदारनाथः– आज सुबह उत्तराखंड के केदारनाथ में वायु सेना का एक MI-17 हेलीकॉप्टर लैंडिग के वक्त दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस हादसे में पायलट सुरक्षित है और किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है. वायुसेना का ये हेलीकॉप्टर निर्माण कार्यों के लिए इस्तेमाल किया जा रहा था. दुर्घटना के वक्त उसमें निर्माण कार्यों से संबंधित सामान भरा हुआ था. हेलीकॉप्टर ने गुप्तकाशी से केदारनाथ के लिए उड़ान भरी थी. वहां लैंडिंग के वक्त ये हादसा हुआ .

स्थानीय लोगो ने बताया कि हेलीकॉप्टर लैंडिग करते समय  लोहे के खंभे से टकरा गया जिसके बाद तुरंत ही उसमें आग लग गई. और हेलीकॉप्टर MI-17  धराशाही हो गया . हेलीकॉप्टर गिरते ही वहां मौजूद कर्मचारी सैन्यकर्मी और ड्यूटी पर मौजूद पुलिस कर्मीयों ने तुरंत एक्शन लेते हुए हेलीकॉप्टर में सवार  पायलट और अन्य लोगों को बाहर निकाला . सैन्यकर्मीयो की सक्रियता के चलते हेलीकॉप्टर हादसे में किसी की भी जान का नुकसान नहीं हो सका.

हेलीकॉप्टर दुर्घटना के बाद रुद्रप्रयाग एसपी पीएन मीणा ने घटना की पुष्टी करते हुए बताया कि , हेलीकॉप्टर में पायलट समेत छह लोग सवार थे. सभी लोग सुरक्षित हैं पुलिस की और प्रशासन की टीमें राहत के कार्य में जुटी हुई हैं. घटना की सूचना पाते ही वायुसेना की एक और टीम घटना स्थल पर पहुंच चुकी है. इस घटना पर भारतीय वायु सेना की तरफ से आधिकारिक बयान आ चुका है. सेना ने इस हादसे के लिए जांच कमेटी बैठाने की बात कही है. बता दें कि उत्तराखंड में हेलीकॉप्टर दुर्घटना का ये पहली घटना नहीं है इससे पहले भी 10 जून 2017 के दिन चमोली के बद्रीनाथ धाम में टेक ऑफ करने के दौरान एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. हादसे में एक इंजीनियर की मौत हो गई थी. और पायलट सहित अन्य लोगों को मामूली चोट आई थी.