नई दिल्ली // कश्मीर में सक्रिय आंतकवादियों को ठिकाना लगाने के लिए सेना और सुरक्षा बलों ने ऑपरेशन ऑल आउट पार्ट 2 शुरू कर दिया है. पाकिस्तान की सरपरस्ती में भारत में आतंक फैलाने में जुटे इन आतंकियों को पकड़ने या मार गिराने का पूरा ऑपरेशन खुद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार यानी एनएसए अजित डोवाल मॉनिटर कर रहे हैं. सेना और सुरक्षा एजेंसियों ने इस ऑपरेशन को शुरू करने से पहले पूरा रिसर्च किया है और टोटल 140 ऐसे आतंकियों की लिस्ट बनाई है जिनको ठंडा करके आतंकियों के मनोबल को तोड़कर घाटी में शांति लाने की एक ठोस कोशिश हो सकती है.

सूत्रों के मुताबिक अजित डोवाल के साथ सेना और सुरक्षा बलों के अधिकारियों की इस ऑपरेशन पर कई राउंड की मीटिंग हुई है. ऑपरेशन ऑल आउट में जिन 140 आतंकियों को टार्गेट पर लिया गया है उनके नाम को लिस्ट में A ++ और A + कैटेगरी में बांटा गया है. जिसके नाम के आगे दो बार प्लस है, उसे टार्गेट बनाने में सेना और सुरक्षा बल ज्यादा तवज्जो देंगे. पूरे ऑपरेशन का फंडा है- चेज, ब्लॉक, फ्रीज और मार डालो. हिन्दी में समझें तो पीछा करो, ठिकाने पर पहुंचकर घेर लो, बाहर से मदद रोक दो और सरेंडर ना करे तो मार दो.

सेना और सुरक्षा बलों ने 140 आतंकवादियों की जो हिट लिस्ट तो तैयार की उस लिस्ट में उनका एरिया, उनके संभावित ठिकाने वाले इलाके और उनके मूवमेंट की हिस्ट्री तक भी डिटेल के साथ दर्ज है. साथ में इन आतंकवादियों को पनाह देने और भागने में मदद करने वालों की भी पूरी लिस्ट बना रखी है ताकि जब जिस आतंकी को टार्गेट किया जाए तो उससे पहले उसके सारे मददगारों को ट्रैक कर लिया जाए. इससे एक तो आतंकी के घिरने पर उसे कोई मदद करने वाला नहीं मिलेगा और दूसरा उसके घिरने की खबर फैलाकर लोकल लोगों को पत्थर बरसाने नहीं बुलाया जा सकेगा. सेना और सुरक्षा बलों ने सोशल मीडिया पर अफवाहों को फैलने से रोकने का एक्शन प्लान भी इस ऑपरेशन में रखा है.