छिन्दवाडा और दिल्ली में प्याज 45 % उछल कर 80 रू पहुंची ….

छिन्दवाड़ा // केंद्र सरकार द्वारा आपूर्ति बढ़ाने और मूल्य वृद्धि के उपायों के बावजूद प्याज की खुदरा कीमत पिछले एक सप्ताह में 45 प्रतिशत बढ़कर 80 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 22 अक्टूबर को दरें 55 रुपये प्रति किलोग्राम थी. महाराष्ट्र जैसे बढ़ते राज्यों में भारी बारिश के बाद आपूर्ति बाधित होने के कारण दिल्ली-एनसीआर में प्याज की कीमतें एक महीने से अधिक समय से बढ़ ही रही हैं. आंकड़ों के अनुसार, वर्ष-दर-वर्ष की अवधि से प्याज की कीमतों में लगभग तीन गुना उछाल आया है. नवंबर 2018 में खुदरा बाजारों में प्याज 30-35 रुपये किलो बिक रहा था. दिल्ली ही नहीं, देश भर के अधिकांश उपभोग क्षेत्रों में प्याज की कीमतें बहुत अधिक हैं. हालांकि राष्ट्रीय राजधानी में, प्याज एक राजनीतिक रूप से संवेदनशील वस्तु रही है.

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आने वाले दिनों में कीमतें मध्यम होनी चाहिए क्योंकि महाराष्ट्र, राजस्थान और कर्नाटक में ताजा फसल की आवक शुरू हो गई है. लेकिन बेमौसम बारिश ने परिवहन को प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावित किया है. दिल्ली में, सहकारी नेफेड द्वारा संचालित केंद्रीय बफर स्टॉक से प्याज की उपलब्धता में सुधार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए मदर डेयरी को अपने 400 से अधिक सफाल आउटलेट्स के माध्यम से 24.90 रुपये/ किलोग्राम की सस्ती दर पर खुदरा बिक्री के लिए दिया गया है. हालांकि, कुछ सफल स्टॉक आउट हो रहे हैं और गरीब उपभोक्ता निराश होकर लौट रहे हैं.

इस बीच, सरकार ने अफगानिस्तान, मिस्र, तुर्की और ईरान से निजी आयात की सुविधा देने का फैसला किया है और यहां तक ​​कि फाइटोसैनेटरी और धूमन मानदंडों को उदार बनाया है. अधिकारी ने कहा कि निजी व्यापारियों ने सरकार को सूचित किया है कि आयातित प्याज के 80 कंटेनर भारतीय बंदरगाहों पर पहुंच चुके हैं और 100 कंटेनर ऊंचे समुद्र में हैं और भारत में ले जाया जा सकता है. वहीं दिल्ली में केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने बढ़ती कीमतों और प्याज के आयात के मुद्दे पर उपभोक्ता मामलों के सचिव एके श्रीवास्तव और खाद्य सचिव रविकांत से मुलाकात की. केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने कहा, प्याज की बढ़ती कीमतों के पीछे मुख्य कारण मांग और आपूर्ति का अंतर है. बारिश और बाढ़ के कारण फसल नष्ट हो गई, नवंबर अंत तक राहत मिलेगी.

ज्ञात हो कि छिन्दवाड़ा और दिल्ली में आज प्याज 80 रुपये प्रति किलो पर बिक रही है. वहीं पटना में इसकी कीमत 60 रुपये प्रति किलो के पार है. प्याज की कीमत गाजियाबाद में 80 रुपये किलो, लखनऊ में 60 रुपये किलो, देहरादून में 70 रुपये किलो, भोपाल में 60 रुपये किलो, चंडीगढ़ में 80 रुपये किलो, कोलकाता में 60 रुपये किलो मंडी का भाव है. सब्जी बेचने वालों का कहना है कि प्याज के दाम 120 रुपये पहुंच सकते हैं.

Share News

You May Also Like