वर्ष 2018 वार्षिक सम्मेलन पेइचिंग में आयोजित

24 मार्च के दोपहर को चीनी वाणिज्य मंत्रालय और भारतीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने भारत की राजधानी दिल्ली में संयुक्त रूप से चीनी अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सपो की प्रसार गतिविधि का आयोजन किया। इस मौके पर चीन-भारत व्यापारिक परियोजनाओं की हस्ताक्षर रस्म का आयोजन भी किया गया। चीनी वाणिज्य मंत्रालय की विदेशी व्यापार ब्यूरो के प्रधान रन होंगपिन, भारत स्थित चीनी दूतावास के मिनिस्टर ली बीच्येन, भारतीय उद्योग व वाणिज्य संघ और पीएचडी वाणिज्य चैम्बर के अधिकारियों ने भाग लिया और भाषण भी दिया। चीन और भारत से आए 120 से ज्यादा सरकारी विभागों, व्यवसाय संघों और कारोबारों के प्रतिनिधि गतिविधि में उपस्थित थे। चीनी वाणिज्य मंत्रालय की विदेशी व्यापार ब्यूरो के प्रधान रन होंगपिन ने कहा कि इधर के सालों में चीन और भारत के आर्थिक व व्यापारिक संबंधों में तेज विकास की प्रवृत्ति पर बरकरार है। द्विपक्षीय आर्थिक व व्यापारिक सहयोग में यथार्थ उपलब्धियां हासिल हुई हैं। चीन का तेज विकास विश्व के लिए मौका भी है। चीन भारत सहित विश्व के विभिन्न देशों के साथ मिलकर शांतिपूर्ण सहयोग और खुलेपन व समावेशी के आधार पर एक दूसरे से सीखना चाहता है और आपसी लाभ व समान उदार वाली रेशम मार्ग की भावना को लेकर द्विपक्षीय बहुक्षेत्रीय सहयोग, समृद्धि और विकास को आगे बढ़ाना चाहता है। चीन भारतीय कारोबारों के पहले चीनी अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सप्रो में भाग लेने का स्वागत करता है।

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *