पहले भाजपा अब कांग्रेस नेताओ के संरक्षण में चल रहा रेत का खेल….

राजाखोह ढाना पेंच नदी से धडल्ले से जारी है रेत का अवैध उत्खनन , दबंग नेताओ के संरक्षण में चल रहा रेत का कारोबार

15 सालो के भाजपा शासन काल में पर्यावर्णीय नुकसान जितना हुआ है उतना पिछले 30 सालो में नही हुआ है भाजपा के संरक्ष्ण में उठाईगीर टूटपूंजीये को भाजपा ने अपने स्वार्थो के लिए पाल रखा था !उनकी रोटी के साथ साथ खुद की अबैध कमाई का जरिया अबैध उत्खनन ,शराब जुआ,सट्टा और गर्मगोस्त का कारोबार इन टूटपूंजीयों से कराए जाते रहे है जिससे मालिक और टूटपूंजीये दोनो खुश रहते थे !

    सत्ता परिवर्तन से मानो ऐसा एहसास हो रहा था की परिस्थितिया बदल जाएँगी ? चारो और खुशहाली ,सुख शांति और अबैध कार्यो को अंजाम देने बाले जेलों में होंगे ? परन्तु जनता का यह अहसास दिवा स्वप्न की भाति जल्द ही टूट गया ? आँखे खुली तो देखकर दुःख हुआ सब वैसे का वैसा है ? सिर्फ चेहरे बदल गये ? टूटपूंजीयों के मालिक बदल गये , पहले जो पूर्ववर्ती सरकारों को कोसा करते थे वे अब उन्ही सब अबैध कार्यो को अंजाम दे रहे है ? जनता फिर ठगी गई , लोकतंत्र की लूट में जनता की अपेक्षाए कभी पूरी होंगी ? मुख्यमंत्री कमलनाथ के नाम पर चंद नेताओ के टूटपूंजीये धौसं जमाये ? तो यह शुभ संकेत नही कहे जा सकते ? कमलनाथ जी को इस पर स्वयं संज्ञान लेना होगा , तभी फिजाये सुखानुभूती प्रदान करने लायक होंगी , हम तो आशान्वित है आप का नही कह सकते ….?    राकेश प्रजापति की रिपोर्ट 

छिदवाडा विधानसभा के अंतर्गत ग्राम राजाखोह ढाना में पेंच नदी से रेत करोवारीयो द्वारा अवैध उत्खनन जोरो से चल रहा है।दिन में तोकुछ सतर्कता बरतकर रेत को ढोया जाता है किन्तु रात होते ही रेत माफियाओ की चांदी हो जाति है ,रात के अँधेरे में काले कारनामो का खेल ही निराला होता है ? हर रात पेच नदी के पास रेत की लूट के लिये जमावड़ा लग जाता है ? मानो प्रतियोगिता चल रही हो नदी को नंगा करने की ? अबैध रेत उत्खनन इस कदर हो रहा है , मानो तन्न्खैया शासकीय खनिज अधिकारियो ने नदी को नंगा करने वालो से साठ गांठ कर ली है ? ठेका हो या न हो किन्तु रेत बेचने वाले अपनी दबंगता से रेत का अबैध कारोबार कर रहे है ? अबैध रेत करोवारी सरकार को करोडो रूपये का चूना लगा रहें है और जिम्मेदार मौन धारण किये हुए है आखिर क्यों ?

सूत्रो के मुताबिक चंद कांग्रेस नेता सरकार का दबाव दिखाकर अवैध रूप से खनन कर रहे  हैं। पहले जो काम भाजपाई किया करते थे उसे अब कांग्रेसी कर रहे है ! राजाखोह ढाना पेंच नदी से बडे पैमाने पर रेत माफिया सक्रिय हैं दिन रात यहां नेताओ के इशारे पर अवैध उत्खनन और परिवहन होता हैं ! जैसे ही जिला मुख्यालय से खनिज विभाग की टीम छिदवाडा से अमरवाडा के लिए निकती है तुरंत ही खबर अवैध रेत माफिया को मिल जाती हैं ! क्योकि कही ना कही खनिज विभाग की इसमें चूक हैं जिसके कारण इन रेत माफिया पर कोई कार्यवाही नही हो पाती हैं ? ऐसे में लगता हैं की रेत माफिया और खनिज विभाग दोनों ने मिलकर ऐसा तंत्र विकसित किया है जिससे दोनों ही तरफ के लोगो पर उंगलिया ना उठा सके ? और रात में रेत का खेल निर्वाध चलता रहे ?

जानकार बताते है की राजाखोह ढाना पेंच नदी से रेत माफिया रोजाना 80 से 100 ट्राली रेत निकाली जा रही हैं ! रेत माफिया के होंसले बुलंद  हैं और अवैध खनन बड़े पैमाने में जारी है ! रोजाना सैकडो ट्राली रेत अवैध रूप से निकाली जा रही हैं और इस धंधे में ऐसे कई सफेदपोश भी शामिल हैं और वे सब हो रहा हैं खनिज विभाग की मिलीभगत से क्योकि रात्रि मे अवैध उत्खनन का खेल चल रहा हैं इससे तो लगता हैं कि इन अवैध उत्खनन करने बाले रेत माफिया को खनिज विभाग का खुला संरक्षण हैं।

Share News

You May Also Like