गोलगंज स्थित स्टेशनरी दूकान पर छपा.. 

छिन्दवाड़ा //   पिछले  से कुछ दिनों से लगातार सोशल मिडिया पर और पालको , अभिभावकों की शिकायते लगातार आ रही थी की प्राइवेट स्कुल संचालको और पाठ्य पुस्तकों प्रकाशकों व् स्टेशनरी संचालको के गठजोड़ और बेतहाश कमिष्न के चक्कर के चलते पालको का आर्थिक शोषण हो रहा है 30  रुपयों कीमत की बुक 90  व् 110 रुपयों में बेचीं जा रही है , इतना ही नहीं किसी एक स्कुल की किताबे एक ही दुकान में मिलने से बच्चो के पालक जरूरत से ज्यादा पैसे देने को मजबूर थे ! इन्ही सब के चलते आज दोपहर  ए डी एम कविता बाटला,एस  डी एम राजेश शाही, डीपीसी बघेल ने गोलागंज स्थित शुभम स्टेशनर्स में छापामार कार्रवाई की। जिसमे उन्हें पूरी दुकान में समस्त स्कूलों की पुस्तकें नही मिली। वही संस्था विशेष की पुस्तकें  बेचे जाने की भी अनियमितता पाई गई।दुकान में उपलब्ध रिकॉर्ड और पुस्तको की उपलब्धता में भिन्नता पाई गई। 40 रुपये की पुस्तक 240 रुपये में बेची जा रही थी। फिलहाल पड़ताल जारी है। 

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.