यह योजना श्रीमती राखी डेहरिया के लिये वरदान साबित हुई..

छिन्दवाडा// राज्य शासन द्वारा महिला सशक्तिकरण की दिशा में निरंतर विभिन्न योजनाओं को संचालित किया जा रहा है तथा इसी कडी में मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना के माध्यम से महिलाओं के सशक्तिकरण का कार्य किया जा रहा है । यह योजना छिन्दवाड़ा के सुकलूढाना क्षेत्र की निवासी श्रीमती राखी पति राकेश डेहरिया के लिये वरदान साबित हुई है । इस योजना ने श्रीमती राखी डेहरिया को जहां वाहन चालन के क्षेत्र में एक नई चुनौती के लिये सशक्त बना दिया है, वहीं आर्थिक समृध्दि और आत्म-निर्भरता का एक नया द्वार खोल दिया है । एक आटो वाहन चालक के रूप में श्रीमती राखी डेहरिया ने अपनी एक अलग पहचान बना ली है तथा उसका परिवार अब बहुत प्रसन्न है ।

छिन्दवाड़ा की श्रीमती राखी डेहरिया की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी तथा वह स्वयं का रोजगार स्थापित करने के लिये प्रयासरत थी । इस दौरान उसे जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति मर्यादित छिन्दवाड़ा से मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना के संबंध में जानकारी प्राप्त हुई तथा उसने आटो रिक्शा वाहन चालन के लिये आवेदन प्रस्तुत किया । यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की छिन्दवाड़ा शाखा से उसे आटो रिक्शा वाहन चालन व्यवसाय के लिये 2.75 लाख रूपये का ऋण और 82 हजार 500 रूपये का अनुदान प्राप्त हुआ । इस आर्थिक सहायता ने उसकी प्रगति के द्वार खोल दिये । अब वह आटो वाहन चालन का कार्य बहुत अच्छी तरह से कर रही है तथा ऋण की किश्त जमा करने के बाद उसे प्रतिमाह 5 हजार रूपये की आय भी प्राप्त हो रही है । अपने इस व्यवसाय से श्रीमती राखी डेहरिया संतुष्ट और प्रसन्न है तथा अपने परिवार के पालन-पोषण में सक्रियता से लगी हुई है । अपने इस आर्थिक सशक्तिकरण का श्रेय वह मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना को देती है तथा अन्य महिलाओं को भी स्वयं के रोजगार के लिये प्रेरित करती है ।

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.