विजय माल्या ने बढ़ाया झगड़ा कांग्रेस और Bjp के बीच

भगोड़े कारोबारी विजय माल्या के एक बयान के बाद देश में राजनैतिक तूफ़ान मच गया. विजय माल्या ने बुधवार को लंदन कोर्ट के बाहर यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया कि देश छोड़ने से पहले वह वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिले थे. गुरुवार को इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर हमला बोला.

भगोड़े कारोबारी विजय माल्या को लेकर कांग्रेस और Bjp के बीच वार-पलटवार का खेल जारी है. विजय माल्या ने बुधवार को यह कहकर सनसनी मचा दी कि देश छोड़ने से पहले उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की थी. इसके बाद कांग्रेस ने इस मौके को हाथ से जाने नहीं दिया और सीधे वित्त मंत्री से सफाई मांगी. कांग्रेस के आरोपों पर Bjp प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि एक बार पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने मीडिया से कहा था हम लोगों को किगफिशर को मुश्किलों से निकालना होगा. गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए कहा कि लंबे-लंबे ब्लॉग लिखने वाले अब झूठ बोल रहे हैं.

राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पार्टी प्रवक्‍ता रणदीप सिंह सुरजेवाला, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के वरिष्‍ठ नेता अशोक गहलोत और पीएल पुनिया भी साथ थे. पुनिया को इसलिए भी साथ रखा गया कि ताकि वह अपने उस दावे को मीडिया के सामने रख सकें, जिसमें उन्‍होंने विजय माल्‍या के देश छोड़ने से पहले और संसद में माल्या और अरुण जेटली के बीच मुलाकात होने का दावा किया था.

पीएल पुनिया ने दावा किया कि माल्या के देश छोड़ने से पहले संसद परिसर में अरुण जेटली ने विशेषाधिकार का दुरुपयोग करते हुए उनसे करीब 15 मिनट तक बातचीत की थी. पुनिया ने कहा कि संसद भवन में लगे सीसीटीवी चेक करके उनके दावे को पुख्ता किया जा सकता है. पुनिया ने आगे कहा कि अगर उनकी बात जरा भी गलत साबित होती है तो वह राजनीति से संन्यास ले लेंगे.

संबित पात्रा का दावा- कांग्रेस है विजय माल्या की मददगार :- Bjp  प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि विजय माल्या सिविल एविएशन स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य थे. उस दौरान माल्या तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह के साथ चाय पीते हैं और लोन दिलाने में मदद करने के लिए धन्यवाद पत्र लिखते हैं. राहुल गांधी से सवाल करते हुए उन्होंने कहा कि विजय माल्या के ‘गुड टाइम्स’ में आपकी कितनी हिस्सेदारी है. साथ ही कांग्रेस आलाकमान ये भी बताए कि किंगफिशर एयरलाइंस विजय माल्या की थी या राहुल गांधी और सोनिया गांधी की?

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.