क्या यही हैं, अच्छे दिन….? : शिवसेना

देश में पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ एक ओर जहां विपक्षी पार्टियां केंद्र की सरकार के खिलाफ हमलावर रुख अपनाए हुए हैं, वहीं अब एनडीए की सहयोगी  शिवसेना  ने सम्पादकीय से सड़क तक सरकार का विरोध करना शुरू कर दिया है। अपनी पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ के माध्यम से केंद्र पर निशाना साध चुकी शिवसेना ने अब मुंबई की सड़कों पर केंद्र सरकार के खिलाफ कई स्थानों पर होर्डिंग लगवाई है। शिवसेना ने इन पोस्टरों और होर्डिंग में पेट्रोल की बढ़ती कीमतों का जिक्र करते हुए केंद्र से पूछा है कि क्या यही अच्छे दिन हैं? 

शिवसेना की ओर से मुंबई के कई प्रमुख इलाकों में लगवाए गए इन पोस्टरों में यूपीए सरकार के समय पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दाम का जिक्र किया गया है। शिवसेना ने 2014 और 2018 में पेट्रोल-डीजल की कीमतों का जिक्र करते हुए केंद्र सरकार के अच्छे दिन के दावों पर सवाल उठाए हैं। शिवसेना और शिवसेना की यूथ विंग की ओर से जारी इन पोस्टरों और होर्डिंग्स को शहर के प्रमुख चौराहों और सार्वजनिक स्थानों पर लगवाया गया है।

ज्ञात हो कि इससे पहले भी कई बार सरकार की सहयोगी होने के बाद भी शिवसेना ने ‘सामना’ की संपादकीय और सार्वजनिक सभाओं में केंद्र सरकार के ‘अच्छे दिन’ वाले दावों पर सवाल खड़े किए थे।

मुंबई में 88 रुपये तक पहुंचा पेट्रोल :- गौरतलब है कि देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के कारण आम लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। कई दिनों से बढ़े रहे दामों के बीच रविवार को भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में इजाफा देखने को मिला है। रविवार को मुंबई में मुंबई में पेट्रोल 87.89 रुपये लीटर हो गया है और एक लीटर डीजल की कीमत 77.09 रुपये प्रति लीटर है।

एक दिन पहले यहां पेट्रोल 87.77 और डीजल 76.98 रुपये प्रति लीटर था। वहीं दिल्ली में पेट्रोल 80.50 रुपये प्रति लीटर हो गया है तो डीजल की ताजा कीमत 72.61 रुपये लीटर है। शनिवार को यहां पेट्रोल-डीजल क्रमश: 80.38 और 72.51 रुपये प्रति लीटर था।

साभार : ANI 

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.