गर्दन भर पानी में तिरंगा फहराने वाले बच्चे का नाम NRC सूची में गायब ..

15 अगस्त 2017 के दिन बाढ़ में घुटने भर पानी में तिरंगा फहराने वाले लड़के का नाम भी असम के NRC सूची में शामिल नहीं है, ज्ञात हो कि असम के नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन लिस्ट ऑफ इंडिया ( NRC ) को हाल ही में अपडेट किया गया है जिस पर काफी विवाद हो रहा है.

आज पूरा देश आजादी के जश्न में सराबोर है. पूरे देश से कुछ ऐसी तस्वीरें आ रही हैं जो दिल जीत लेने वाली हैं. इसी तरह पिछले साल 15 अगस्त के समय सोशल मीडिया से लेकर मेनस्ट्रीम मीडिया में एक तस्वीर काफी प्रसिद्ध हुआ था. उस फोटो में दो बच्चे अपने दो अध्यापकों के साथ गर्दन भर पानी में खड़े होकर तिरंगे को सलामी दे रहे थे. यह फोटो असम के धुबरी जिले का था और उस समय असम में बाढ़ आई थी. लेकिन 15 अगस्त के दिन इन दोनों बच्चों ने अपने अध्यापकों के साथ जज्बा दिखाते हुए अपने स्कूल पर तिरंगा फहराया था.

अब खबर आ रही है कि इन दो बच्चों में से एक बच्चे का नाम असम की नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन लिस्ट ऑफ इंडिया ( NRC) लिस्ट में नहीं है. हालांकि इस तस्वीर में खड़े अन्य तीन लोगों का नाम NRC लिस्ट में है. जिस बच्चे का नाम NRC लिस्ट में नहीं है उसका नाम हैदर खान है जो तस्वीर में सबसे बाएं खड़ा है. इस तस्वीर में खड़ा दूसरा बच्चा जियारूल खान, जो कि हैदर का रिश्तेदार भी है, का नाम NRC लिस्ट में शामिल है. इसके अलावा प्रधानाध्यपक ताजेन सिकदर और सहायक अध्यापक नृपेन राभा का नाम भी NRC सूची में है.

हैरानी की बात है कि हैदर के अलावा उसके परिवार के सभी लोगों का नाम इस NRC सूची में है. हैदर की मां का नाम जोयगोन खातून है और वह घरेलू कर्मचारी हैं. इसके अलावा हैदर के 12 साल के भाई और 6 साल की बहन का भी नाम NRC लिस्ट में शामिल है. जबकि उसके बाबा का नाम हैदर खान का भी नाम इस सूची में है. हैदर के पिता रूपनल खान की हत्या 2011 के एक दंगे में हो गई थी.

इंडियन एक्सप्रेस के एक रिपोर्ट में हैदर कहता है कि NRC सूची के बारे में उन्हें कुछ नहीं पता है. जबकि पिछले साल की घटना के बारे में कहना है कि तब सब कुछ पानी में डूबा था, लेकिन हम स्कूल गए और झंडे को सैल्यूट किया.

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.