रात में लड़कियों के कमरे में घुस आते थे कर्मचारी….

मुजफ्फरपुर आश्रय केंद्र में लड़कियों के साथ होने वाली दरिंदगी की दास्तान सुनकर जांच अधिकारी भी हैरान हैं. .जिसको सुनकर शैतान भी शर्मशार हो जाए परन्तु इन हैवान की ओलादों ने भयानक कुकर्म को अंजाम दिया जिसकी सजा ” लिंग कर्तन “से कम नही होना चाहिए 

मुजफ्फरपुर आश्रय केंद्र मामले  में बड़ा खुलासा हुआ है. इस मामले में  TISS की वो रिपोर्ट में सामने आया है कि आश्रय केंद्र में रहने वाली लड़कियों का यौन शौषण होता था. टीआईएसएस की यह रिपोर्ट में कहा गया है कि मुजफ्फरपुर आश्रय केंद्र बेहद संदिग्ध तरीके से चलाया जा रहा था. जिसकी कार्यशैली पर देखकर कई सवाल उठते हैं. उस आश्रय केंद्र में हिंसा के कई गंभीर घटनाएं देखने में आई थीं.

मुजफ्फरपुर आश्रय केंद्र में लड़कियों के साथ यौन हिंसा के मामलों में सबसे आगे था. वह छोटी उम्र से लेकर बड़ी आयु वाली लड़कियों के साथ भी जमकर यौन हिंसा होती थी. बताया जाता है कि वहां के पुरुष कर्मचारी हर दिन लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करते थे.

रिपोर्ट के मुताबिक सजा देने के नाम पर या अनुशासन का उल्लंघन करने के नाम पर लड़कियों के साथ यौन हिंसा की जाती थी. हालात ये थे कि आश्रय केंद्र के पुरुष कर्मचारी कभी भी किसी भी वक्त लड़कियों के कमरे में चले जाते थे और उनके गुप्तांगों पर हाथ मारते ,सहलाते और छेड़छाड़ करते थे.

आश्रय केंद्र की लड़कियों को बाहर खुली जगह में जाने की इजाजत नहीं थी. उन्हें उनके वार्ड में बंद करके रखा जाता था. अगर लड़कियां अपने परिजनों या रिश्तेदारों से फोन पर बात करने के लिए कहती थीं, तो उन लड़कियों को पीटा और यौन उत्पीडन किया जाता था. लड़कियों पर होने वाले इन अत्याचारों ने आश्रय केंद्र में आतंक की स्थिति पैदा कर रखी थी.

 

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.