विसंगतियों का प्रदेश , 3 शहर , मनोरंजन कर सबमें अलग-अलग ….

पूरे देश में एक जैसा टैक्स लगाने के लिए किए गए संविधान संशोधन के बाद मप्र के नगरों ने सिनेमाघरों और अन्य सेवाओं पर मनोरंजन कर लगाया तो एक नई विसंगति सामने आ गई। अब एक ही प्रदेश के तीन शहरों में सिनेमाघरों पर मनोरंजन कर की तीन अलग-अलग दर हो गई है। इससे शहर दर शहर सिनेमाघरों के टिकट की कीमत में भी भारी अंतर आ जाएगा

ग्वालियर ने मल्टीप्लेक्स पर सबसे ज्यादा कर लगाया है, जबकि भोपाल में उससे कम और इंदौर में सबसे कम है। जानकारों के मुताबिक इसका सीधा असर टिकट की कीमतों पर पड़ेगा। ऐसा ही केबल ऑपरेटर और डिस्को-पब पर लगे कर में भी हुआ है। फिलहाल कुछ ही शहरों में यह कर लगाया गया है। बाद में सभी 378 निकाय अपने हिसाब से कर लगाएंगे।

कहां-कितना कर :- इंदौर – मल्टीप्लेक्स पर 5 फीसदी, डिस्को-पब पर 20 फीसदी और लाइव कॉन्सर्ट-स्टेज शो पर 10 प्रतिशत।

ग्वालियर – मल्टीप्लेक्स और केबल ऑपरेटर पर 20 प्रतिशत।

भोपाल – मल्टीप्लेक्स, डीटीएच, थीम पार्क पर 15 प्रतिशत।

फिल्म या अन्य सेवाएं टैक्स फ्री कैसे होंगी :- नगरीय निकायों को भले ही मनोरंजन कर लगाने का अधिकार दे दिया गया हो, लेकिन इसमें कुछ खामियां भी हैं। यदि किसी फिल्म या सेवा को मनोरंजन कर से छूट देनी होगी तो किसी एक आदेश से यह पूरे प्रदेश में लागू नहीं होगा। सभी निकाय अपने-अपने स्तर पर कर से छूट देने का फैसला करेंगे। यह फैसले राजनीतिक भी हो सकते हैं।

नगरीय निकाय स्वायत्तशासी संस्थाएं हैं। जैसे वे अलग-अलग संपत्तिकर वसूलते हैं, वैसे ही मनोरंजन कर भी लेंगे। कानून में उन्हें यह अधिकार दिए गए हैं। इससे निकायों की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी – मयंक वर्मा, ज्वाइंट डायरेक्टर, नगरीय प्रशासन विभाग

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.