आखिरी पांच रातों में इस तरह तैयारी की मौत को गले लगाने की….

दिल्ली के बुराड़ी में एक ही घर से 11 शव मिलने की गुत्थी अभी तक सुलझी नहीं है. दिल्ली पुलिस व क्राइम ब्रांच मिलकर इस गुत्थी को सुलझाने में लगी हुई है. इस केस में अंधविश्वास, ललित और घर से मिले रजिस्टर अहम बिंदु हैं. इस केस में पुलिस फिलहाल उदयपुर में हैं जहां वह ललित की पत्नी टीना के परिवार से पूछताछ कर रही है. बुराड़ी 11 मौत केस में रोजाना नए खुलासे हो रहे हैं.

सूत्रों की माने तो दिल्ली पुलिस ने जांच में पाया है कि इस घटना का मास्टरमाइंड ललित भाटिया पिछले 11 साल से डायरी लिख रहा था. पुलिस जांच में मिले रजिस्टर में गुरुवार और शनिवार को विशेष पूजा इत्यादि के बारे में लिखा है और लिखा था कि इस दिन पूजा करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है. जानिए परिवार के सदस्यों ने मौत से पहले आखिरी पांच रातों में क्या-क्या किया और किस तरह से खुदकुशी की तैयारी की.

26 जून : पुलिस को मिले वीडियो में सविता पूजा के लिए थाली और हवन की सामग्री घर ले जाती दिख रही हैं. वीडियो में उनके हाथ में कुछ अन्य सामान भी है, जिसे पुलिस इस क्रिया से संबंधित ही मान रही है.

27 जून : ललित एक पॉलीथीन में सामान ला रहा है. पॉलीथीन में काले रंग का कपड़ा और डॉक्टर टेप नजर आ रही है. क्रिया के अंतिम दिन परिवार के सदस्यों के मुंह बांधने के लिए काले कपड़े और डॉक्टर टेप का इस्तेमाल किया गया था.

28 जून : ललित शाम को अकेले कहीं जाते दिख रहे हैं और जब वह घर वापस आते हैं तो उनके हाथ में सामान से भरे दो बैग हैं. एक बैग में हवन सामग्री दिखाई दे रही है.

29 जून : भूपेन्द्र इलाके के एक मंदिर के पुजारी से मिले. पुजारी से उन्होंने पूजा से संबंधित सामान की सूची तैयार कराई. वारदात वाले दिन भी भूपेन्द्र इस पुजारी से मिले थे और सामान लेकर आए थे.

30 जून : रात करीब 10.04 बजे नीतू और उसकी मां सविता वारदात में इस्तेमाल स्टूल लाते हुए दिखीं. घर आने के बाद नीतू फिर से कहीं जाती हुई दिखाई दे रही हैं. इसी दिन बच्चे भी घर के नीचे बनी दुकान से बिजली के तार ले जाते हुए दिखाई दिए.

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.