पहाड़ो से उठने बाले हर सबालों का जबाब जरूर मिलेंगे : मुख्यमंत्री रावत

पत्रकारिता में आज गंभीर चिंतन और मनन की आवश्यकता है। अनुभवी और समझदार पत्रकारों की देखरेख में चाणक्य मंत्र ऐसा कर पाने में सफल होगा ऐसा मेरा विश्वास है। यह विचार उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने व्यक्त किए। श्री रावत आज हिंदी पाक्षिक पत्रिका चाणक्य मंत्र के लोकार्पण के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। पत्रिका का लोकार्पण समारोह आज मुख्यमंत्री आवास के सभगार में आयोजित किया गया था।
श्री रावत ने पत्रिका का मुख्यालय देहरादून रखे जाने पर भी प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि इससे कम से कम पहाड़ की समस्त समस्याओं को सही ढंग से पूरे देश के समक्ष रख पाना संभव होगा। श्री भागवत ने कहा कि आज के दौर में भी गंभीर किस्म की पत्रिका की आवश्यकता पूरी हिंदी क्षेत्र में महसूस की जा रही है। श्री रावत ने गंभीर किस्म की पत्रकारिता करने वालों के इस प्रयास को साधुवाद दिया और उन्हें अपनी शुभकामनाएं भी दी।
इस अवसर पर राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री श्री धन सिंह रावत एवं उत्तराखंड विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष श्री हरवंश कपूर ने भी पत्रिका के सफल होने की शुभकामनाएं दी और यह उम्मीद जताई कि पत्रिका अपने मकसद में कामयाब होगी।

इस मौके पर पत्रिका के समूह सम्पादक श्री रणविजय सिंह ने पत्रिका के लक्ष्य को रेखांकित किया और पत्रिका किसकी आवाज बनेगी, उसकी संक्षिप्त जानकारी दी। पत्रिका के प्रधान संपादक श्री धर्मपाल धनखड़ ने कहा कि यह पत्रिका लोगों की आकांक्षाओं के साथ-साथ शुद्ध तौर पर बुनियादी सवालों को उठाने तथा उन्हीं बुनियादी सवालों का उत्तर जनता तक पहुंचाने के लिए संवाद वाहक की जिम्मेदारी निभाएगी।

इस मौके पर देश भर से आये मूर्धन्य पत्रकार बड़ी संख्या के मौजूद थे ।

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *