जो अफसरों की हड़ताल करवाए उसके हाथ में लोकतंत्र सुरक्षित नहीं….

आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक और दिल्ली के मुंख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, गोपाल राय और सत्येंद्र जैन का एली ऑफिस में धरने का आज 8 वां दिन है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला. उन्होंने पीएम पर अफसरों की हड़ताल का एक बार फिर आरोप लगाया

आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक और दिल्ली के मुंख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, गोपाल राय और सत्येंद्र जैन का एजी  ऑफिस में धरने का आज 8 वां दिन है. कल 7 वें दिन उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि पीएम देश के अफसरों के बीच हड़ताल करवा कर कामकाज ठप करवा रहे हैं. ऐसे प्रधानमंत्री के हाथों में लोकतंत्र सुरक्षित कैसे रहेगा.

ज्ञात हो की पिछले 8  दिनों से अपनी मांगों को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल ऑफिस में धरने पर बैठे हैं. इसी बीच शनिवार रात पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी केजरीवाल के सपोर्ट में उतरीं. ममता बनर्जी तीन अन्य मुख्यमंत्रियों के साथ केजरीवाल की पत्नी से मिलने के लिए उनके घर पहुंचीं हुईं थीं. इधर उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने केजरीवाल सरकार के साथ मीटिंग करने से इनकार कर दिया है.

वहीं एलजी से मुलाकात नहीं होने पर केजरीवाल ने रविवार को पीएम आवास तक मार्च का आह्वान किया है. इसके लिए केजरीवाल ने लोगों से अपील की है कि अपने हक के लिए रविवार को शाम 04 बजे पीएम आवास तक मार्च करें. इससे पहले शुक्रवार को दिल्ली मनीष सिसोदिया ने कहा है कि अनिल बैजल ने जबरदस्ती अनशन तुड़वाने की कोशिश की तो मैं जल भी त्याग दूंगा. बता दें कि शुक्रवार से सीएम के ऑफिस में बीजेपी के 4 नेता अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं.

दिल्ली के सीएम और तीन मंत्रियों के उपराज्यपाल अनिल बैजल के ऑफिस में धरने के बाद बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता, विधायक मनिंदर सिरसा, आम आदमी पार्टी के विधायक कपिल मिश्रा और बीजेपी सांसद प्रवेश साहिब सिंह दिल्ली के सीएम के ऑफिस में 13 जून से हड़ताल कर रहे हैं. शुक्रवार को कपिल मिश्रा ने खुद के अलावा विजेंद्र गुप्ता, विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा और बीजेपी सांसद प्रवेश साहिब सिंह के द्वारा अनिश्चित कालीन भूख हड़ताल का ऐलान किया.

17 जून- 9:30 बजे : दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री पर एक बार फिर तीखा हमला किया. ट्वीट के जरिए उन्होंने कहा कि जो प्रधान मंत्री किसी राज्य में अफ़सरों की हड़ताल करवा के वहां का काम काज ठप करता है, क्या ऐसे प्रधानमंत्री के हाथों में देश का लोकतंत्र सुरक्षित है?

16 जून- 9.05 बजे: उप-राज्यपाल के आवास पर धरने पर बैठे दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का भी साथ मिला है. खबर है कि ममता बनर्जी तीन अन्य मुख्यमंत्रियों (आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू, केरल के पी. विजयन, कर्नाटक के एचडी कुमारस्वामी) के साथ अरविंद केजरीवाल की पत्नी से मिलने के लिए उनके घर जा रही हैं. दूसरी ओर केजरीवाल तब बड़ा झटका लग जब उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने केजरीवाल के साथ बैठक करने से इनकार कर दिया है.

16 जून- 2.20 बजे:- दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने देशवासियों को ईद की बधाई दी है. बधाई संदेश ट्विटर के माध्यम से दियि गया है. जिसको रिट्वीट करते हुए दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने लिखा कि ईद मुबारक @LtGovDelhi सर! आपके राजभवन में ही बैठे हैं 5 दिन से. ईद मिलने के बहाने ही बुला लीजिए. 4 दिन से अनशन पर हूं। कहते है होली, दिवाली और ईद पर तो दुश्मन को भी गले लगा लेते हैं.

16 जून- 2.00 बजे:- दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने की मांग को लेकर अनशन कर रहे केजरीवाल एंड पार्टी को दिल्ली के वाल्मीकि समाज का भी समर्थन मिल गया है.

16 जून- 12.00 बजे:- पिछले 6 दिन से उपराज्यपाल अनिल बैजल के ऑफिस में धरना दे रहे दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन और गोपाल राय के समर्थन में पंजीकृत मेडिकल प्रैक्टिशनर्स फेडरेशन में 12,500 सक्रिय सदस्य आ गए हैं.

16 जून- 10.00 बजे:- वहीं पिछले 6 दिनों से उपराज्यपाल से मुलाकात नहीं होने से नाराज दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने ‘दिल्ली के आम आदमी का प्रधानमंत्री आवास मार्च’ का लोगों से आह्वान किया है. केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से अपील की है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया व कैबिनेट मंत्री गोपाल राय और सत्येंद्र जैन के संघर्ष की आवाज़ को बुलंद करने और प्रधानमंत्री से दिल्लीवासियों का हक़ मांगने के लिए रविवार शाम को 4 बजे मंडी हाउस से पीएम आवास की ओर प्रस्थान करें.

2.30 बजे:-  वहीं आंध्र प्रदेश के सीएम एन चंद्रबाबू नायडू ने दिल्ली में जारी राजनीतिक उठा-पटक पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हम लोगों द्वारा चुनी गई दिल्ली सरकार के साथ हमारी एकजुटता व्यक्त करते हैं. एक अन्य ट्वीट में नायडू ने कहा कि केंद्र सरकार के द्वारा सत्ताधारी पार्टी के खिलाफ राजनीतिक लाभ के लिए राज्यपाल के कार्यालय का उपयोग करने की प्रवृत्ति संविधान की भावना के खिलाफ है.

1.45 बजे:- दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया. केजरीवाल ने सवाल दागा कि ‘वे क्यों हमारा अनशन जबरदस्ती तुड़वाने के लिए प्लानिंग कर रहे हैं. केजरीवाल ने कहा कि अभी 4 दिन ही हुए है, हम सभी पूरी तरह से फिट है. उन्होंने कहा कि हम दिल्ली के लोगों के लिए संघर्ष कर रहे हैं’

1.30 बजे:- इसस कुछ देर पहले डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र ने कहा कि उन्हें जबरन अस्पताल ले जाने की तैयारी की जा रही है. इस दौरान मनीष सिसोदिया ने कहा कि एलजी ऑफिस के बाहर 4 एंबुलेंस और डॉक्टरों की पूरी टीम मौजूद है. सिसोदिया ने कहा कि अगर एलजी अनिल बैजल ने जबरदस्ती अनशन तुड़वाने की कोशिश की तो मैं जल भी त्याग दूंगा.

12.00 बजे:-  इससे पहले आप नेता संजय सिंह ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की थी. जिसके बाद उनके मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्य कैबिनेट मंत्रियों से मुलाकात करने का प्लान है. वहीं बीजेपी नेता विजय गोयल ने भी दिल्ली के मुद्दे पर राजनाथ सिंह से मुलाकात की.

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *