ग्वालियर के बिरला अस्पताल में हुई विश्व की पहली घटना….

35 दिन की उम्र वाले शिशु के पेट से भ्रूण निकालने की यह विश्व की पहली घटना है….

चिकित्सा जगत को हैरान कर देने वाली घटनाएं तो अक्सर होती ही रहती है  है लेकिन ग्वालियर के बिरला अस्पताल में 35 दिन का एक ऐसा मरीज पहुंचा जिसने डॉक्टर्स के दिमाग ही शून्य कर दिए । लेकिन शिशु रोग सर्जन ने न सिर्फ सफल ऑपरेशन किया बल्कि अपना और अस्पताल के नाम विश्व स्तर पर रिकॉर्ड दर्ज करा लिया।

दरअसल, दतिया निवासी आकाश करोटिया की पत्नी 35 दिन पहले झाँसी के अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया। जन्म के बाद से ही बच्चे का पेट फूलने लगा। झाँसी के डॉक्टर्स को जब कुछ समझ नहीं आया तो आकाश ने आपने बच्चे को ग्वालियर के बिरला अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टर्स ने बच्चे की सोनोग्राफी की तो पेट में गठान दिखी।  पीडियट्रिक सर्जन डॉ अमित  अग्रवाल ने बच्चे की जांच के बाद उसकी उम्र को देखते हुए इंतजार करने के लिए कहा।  इस दौरान डॉक्टर्स ने बच्चे पर पूरी निगरानी रखी और 35 दिन की उम्र पूरी होते ही उसका ऑपरेशन कर दिया। ऑपरेशन के बाद बच्चे के पेट से गठान की जगह अविकसित भ्रूण निकला जिसे देखकर डॉक्टर हैरान रह गए।

डॉ अमित अग्रवाल के मुताबिक शिशु के पेट में भ्रूण होने के अभी तक दुनिया में 200 केस अस्पतालो में रिपोर्ट हुए हैं। लेकिन मात्र 35 दिन की उम्र वाले शिशु का ऑपरेशन कर उसके पेट से भ्रूण निकालने की यह विश्व की पहली घटना है। और ये अपने आप में एक रिकॉर्ड है। डॉ अग्रवाल के अनुसार बच्चा स्वस्थ है और वे उसपर पूरी निगरानी रख रहे हैं।

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *