पांच रुपए के लिए किसान की पीट-पीटकर की हत्या……

चुनावी बर्ष में सरकार जहाँ सब को खुश करने की कोशिशो में लगी हुई है , सत्तालोलुपता के चलते सरकार प्रदेश पर 2 लाख करोड़ का कर्जा पहले ही चडा चुकी है , और फिर भी प्रदेश की जनता को कर्ज ले कर रसगुल्ले खिलाने का दुसाहस कर रही है , हाल ही में प्रदेश सरकार ने असंगठित क्षेत्र के कामगारों को साधने के लिए मुख्य मंत्री जन कल्याण योजना का कार्ड खेला है और प्रदेश में किसान और गरीब दोनों खुश होने का दबा करने बाली सरकार के लिया यह खबर झटका देने बाली है ….

 मध्य प्रदेश के इंदौर से खबर मिल रही है कि यहाँ पांच रुपए के लिए किसान की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई.जानकार बताते है कि ढाबे पर खाने गए किसान के पास पांच रुपए कम पड़ गए थे.

घटना इंदौर के नजदीक सिमरोल का है जहां ढाबे पर खाना खाने गए किसान के पास पांच रुपए कम पड़ जाने पर ढाबा संचालक भाइयों ने पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी. पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

बताया जा रहा है कि खाना खाने के बाद किसान धर्मेन्द्र ने 5 रूपये का एक पाउच ख़रीदा था. उसने खाने का बिल चुका दिया था, लेकिन उसके पास पाउच के पांच रुपए नहीं थे, इसी बात को लेकर ढाबे पर विवाद हो गया और यह विवाद इस कदर बढ़ा कि ढाबा संचालक सतीश ने अपने भाइयों के साथ मिलकर धर्मेन्द्र के साथ जमकर मारपीट की और उसे उठाकर बाहर फेंक गए.

घर में जब उसकी तबियत बिगड़ी तो उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया. परिजनों मौत की सूचना परिजनों ने सिमरोल पुलिस को दी. मौके पर पहुंची सिमरोल पुलिस ने उसका शव बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेजा.

पुलिस के मुताबिक फिलहाल उसकी मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है. परिजन मारपीट की बात कह रहे है. पुलिस ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आने वाले मौत के कारणों के आधार पर प्रकरण दर्ज किया जाएगा.

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.