शराब के शौकीनो को झटका, देना होगा गाय टैक्स ……

कांग्रेस बीजेपी सरकार को गौ माता की हत्यारी सरकार बता रही है…,

वसुंधरा सरकार हिंगौनिया गौशाला में हजारों गाय के मरने से जो धब्बा उनकी सरकार पर लगा है उसे धोने के लिए गायों के लिए भारी-भरकम फंड जुटाने का प्रयास कर रही है ….

आगामी विधान सभा चुनाव जितने के लिए भाजपा लोगो की भावनाओं को कैश करने के लिए कोई भी हथकंडा अपनाने से बाज नही आ रही है ! लोगो की धार्मिक भावनाओं के साथ साथ जनता की जेब में डंका डाला जा रहा है और उसी पैसों की बन्दरबांट कैसे होनी है यह तो भविष्य की गर्भ में छुपा हुआ है यह तो आने बाला समय ही बतायेगा ?,  हम बात कर रहे है पड़ोसी राज्य राजस्थान की ..

राजस्थान में अब शराब पीना है तो गौ सेवा कर चुकाना  पड़ेगा . राजस्थान की वसुंधरा सरकार की आबकारी विभाग ने ऐसा प्रस्ताव लाया है कि जो भी शराब पियेगा उसे गौ माता टैक्स देना पड़ेगा. राजस्थान सरकार ने आबकारी विभाग के प्रस्ताव को सर्कुलर के जरिये कैबिनेट में जारी किया है जिसके अंदर यह प्रस्ताव है कि शराब की बिक्री पर काउ टैक्स लगाया जाए. इसके लिए प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा गया है. फाइनेंस डिपार्टमेंट यह तय करेगा कि शराब की बिक्री पर कितना काउ टैक्स लगाया जाए.

राजस्थान की वसुंधरा सरकार हिंगौनिया गौशाला में हजारों गाय के मरने से जो धब्बा उनकी सरकार पर लगा है उसे धोने के लिए गायों के लिए भारी-भरकम फंड जुटाने जा रही है. राजस्थान सरकार ने सबसे ज्यादा आमदनी वाले अपने आबकारी विभाग से पूछा था कि वो किस तरह से गौ सेवा के लिए पैसे जुटा सकता है. आबकारी विभाग ने शराब की हर बोतल की बिक्री से लेकर बार और होटलों में हर पैग पर गौ टैक्स लगाने का प्रस्ताव सरकार को भेजा है. सरकार ने इसे सर्कुलर के जरिये कैबिनेट में रखा है जहां हरी झंडी मिलती है तो ऑर्डिनेंस के जरिए राजस्थान में लागू किया जाएगा. इसके लिए प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा गया है.

संसदीय कार्यमंत्री राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि आबकारी विभाग के प्रस्ताव को वित्त विभाग अध्ययन करेगी. प्रस्ताव पर अंतिम फैसला मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे लेंगी. इससे पहले राजस्थान में वसुंधरा सरकार ने स्टांप ड्यूटी पर 10 से लेकर 20 फीसदी तक गौ कर लगाया था ,  जो अभी लिया जा रहा है. जिससे करीब 300 करोड़ की आमदनी हो रही है. राज्य के करीब 1600 गौशालाओं के 6 लाख गौ धन को पैसे दिए जा रहे हैं लेकिन गौशालाओं से और पैसे की मांग उठ रही है.

स्टांप ड्यूटी से कर बसूली  :- फिलहाल स्टांप ड्यूटी पर जो कर लगाया जा रहा है उससे पैसा गौशालाओं को अनुदान देने के लिए जमा नहीं हो पा रहा है क्योंकि मंदी की वजह से मकानों की रजिस्ट्री काफी कम हो गई है और काउ टैक्स की वसूली काफी कम हो रही है. राजस्थान में इस साल चुनाव होने हैं और गाय की सेवा एक बड़ा मुद्दा है. कांग्रेस बीजेपी सरकार को गौ माता की हत्यारी सरकार बता रही है.

अभी हालात यह हैं कि गौशालाओं को 60 फीसदी राशि डेसीलीटर मैनेजमेंट फंड से दिया जा रहा है. हाल ही में केंद्र सरकार ने डिजास्टर मैनेजमेंट में से गौ सेवा के लिए दिए जाने वाले फंड में 90% की कटौती कर दी है. गौशालाओं को अनुदान नहीं मिलने से राजस्थान में साधु संत कई बार प्रदर्शन कर चुके हैं. ऐसे में सरकार की मंशा है कि राज्य में अगर शराब पर गौ माता टैक्स लगाया जाता है तो गौशालाओं के अनुदान के लिए भारी रकम सरकार के खजाने में आ जाएगी. सरकार यह दिखाना चाहती है कि वह गौ सेवा के लिए राज्य में एक बड़ा फंड तैयार कर रही है. हालांकि इससे शराब के शौकीन लोगों को झटका लगेगा क्योंकि शराब की कीमतों में बढ़ोतरी होगी!

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.