BJP ने लोकसभा में अपना बहुमत खो दिया : उद्धव ठाकरे

भाजपा को अब दोस्त की जरूरत नहीं ,ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे कांग्रेस को फायदा हो। 

पालघर लोकसभा उपचुनाव में हार के बाद शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने कहा है कि भाजपा को अब दोस्त की जरूरत नहीं है। उन्होंने ये भी कहा कि 4 सालों में भाजपा ने लोकसभा में बहुमत गंवा दिया है। ठाकरे ने विभिन्न राज्यों में चार लोकसभा सीटों के उपचुनाव परिणाम घोषित होने के बाद संवाददाताओं से कहा कि बीजेपी ने लोकसभा में अपना बहुमत खो दिया है और पार्टी ने पालघर सीट पर धन के बलबूते जीत हासिल की है। हालांकि उद्धव के इस बयान के बाद महाराष्ट्र भाजपा के नेता चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि उद्धव ठाकरे एनडीए से बाहर नहीं जाएंगे। वे ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे कांग्रेस को फायदा हो। 

‘ईवीएम विवाद ना सुलझे तो चुनाव बहिष्कार करें’:- शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने विपक्षी दलों से कहा कि ईवीएम से जुड़े विवादों का जल्द हल ना होने पर वे चुनावों का एक साथ बहिष्कार करें। उन्होंने पालघर उपचुनाव के नतीजे को लेकर चुनाव आयोग को अदालत में घसीटने की भी धमकी दी और वहां मतदान प्रतिशत में अचानक हुई वृद्धि को लेकर चुनाव अधिकारियों के निलंबन की मांग की। ठाकरे ने कहा कि जब भाजपा ने 2014 में पालघर लोकसभा सीट जीती थी तब जीत का अंतर लाखों वोट थे। आज वह मुश्किल से कुछ हजार वोटों से जीते। पालघर में वोट डालने वाले आठ लाख लोगों में से छह लाख से ज्यादा ने भाजपा को खारिज कर दिया।

शिवसेना नेता ने कहा कि मैं यह हार स्वीकार करने को तैयार नहीं हूं क्योंकि चुनाव जीतने के लिए साम, दाम, दंड, भेद का इस्तेमाल किया गया। ठाकरे ने कहा कि पिछले कई दिनों से, यहां तक कि चुनाव के दिन, ईवीएम में गड़बड़ियों की शिकायतें की गईं। कई जगहों पर ईवीएम में खराबी आ गई और लोग वोट नहीं डाल पाए। आयोग के ईवीएम में खराबी के लिए गर्म मौसम को जिम्मेदार ठहराने को लेकर उन्होंने कहा कि क्या आयोग को देश के जलवायु की जानकारी है।

आयोग ने शिवसेना के आरोपों को खारिज किया :- चुनाव आयोग ने महाराष्ट्र में पालघर लोकसभा सीट पर शिवसेना उम्मीदवार की हार के लिए ईवीएम में गड़बड़ी को जिम्मेदार ठहराने के आरोपों को खारिज कर दिया। आयोग के हवाले से पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) के एक ट्वीट में शिवसेना के इन आरोपों को हकीकत से दूर और अनुमानपरक बताया गया है। आयोग ने कहा कि आयोग ने मशीनों में खराबी की शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए इनकी तह में जाकर इसके कारणों की जांच कराई है और इस बारे में जरूरी कार्रवाई की जा रही है, जिससे चुनाव प्रक्रिया का सुचारू संचालन हो सके। चुनाव आयोग के प्रवक्ता ने महाराष्ट्र के मुख्य चुनाव अधिकारी के बयान के हवाले से कहा कि पालघर लोकसभा क्षेत्र की उपचुनाव प्रक्रिया पूरी कर ली गई है और वहां के निर्वाचन अधिकारी ने शिवसेना उम्मीदवार के पुनर्मतगणना के आवेदन को खारिज कर दिया है।

फड़णवीस ने भी हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ा :- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भंडारा-गोंदिया लोकसभा उपचुनाव में भाजपा की हार के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में गड़बड़ी और सूखे को जिम्मेदार ठहराया। फडणवीस ने कहा कि ज्यादातर भाजपा मतदाता शिक्षित मतदाता हैं जो सुबह में ही मतदान केंद्र पर चले जाते हैं। उनमें से कई (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी के कारण) वोट नहीं डाल पाए। उन्हें वापस जाना पड़ा और दिन में बाद में वे (मतदान केंद्र पर) नहीं लौटे। मुख्यमंत्री ने यहां भाजपा मुख्यालय में कहा कि अतएव भाजपा को ईवीएम में गड़बड़ी का खामियाजा उठाना पड़ा। उन्होंने दावा किया कि भंडारा-गोंदिया क्षेत्र में पिछले चार-पांच सालों की तुलना में इस बार भीषण सूखा रहा, जिससे मतदाताओं में सत्ताविरोधी मूड बन गया।

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.