पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से जनता को राहत मिलती नहीं दिखाई पड़ रही है. लगातार 12वें दिन भी फ्यूल पर कीमतों में बढ़ोत्तरी देखने को मिली. पेट्रोल पर 12वें दिन 32 पैसे और डीजल पर 18 पैसो की बढ़त हुई. जिससे आम जनता को खासा परेशानी उठानी पड़ रही है. इंडियन ऑयल कॉरपेरेशन के मुताबिक, मेट्रो शहरों दिल्ली में 77.83 रुपये प्रति लीटर तो मुंबई में पेट्रोल की कीमत 85.65 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई है.

ज्ञात हो की गुरुवार को मुंबई में पेट्रोल 85.29 रुपये प्रति लीटर था. इंडियन ऑयल कॉरपेरेशन के मुताबिक, दिल्‍ली में 77.83 रुपये, कोलकाता में 80.47 रुपये और चेन्‍नई में पेट्रोल 80.80 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल ग्राहकों को बेचा जा रहा है. इसी प्रकार शुक्रवार को मुंबई में डीजल को रेट 73.20 रुपये प्रति लीटर है जबकि गुरुवार को मुंबई में डीजल 72.96 रुपये प्रति लीटर बेचा जा रहा था. ये बढ़ी हुई कीमतें सुबह 6 बजे से लागू हुईं.

पिछले 12 दिनों से कच्चे तेल पर ये कीमते आसमान छू रही हैं जिसकी वजह से मोदी सरकार की खूब किरकिरी भी हो रही है. खबरें तो ये भी है कि केंद्र सरकार आम जनता को राहत देने के लिए ओएनजीसी जैसी तेल कंपनियों पर टैक्स लगाने का विचार कर रही हैं जिससे हो सकता है कि पेट्रोल-डीजल से 2 रुपये तक कम हो सकते हैं. इस विषय पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर तीखा हमला किया था उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा था कि मोदी सरकार जनता के साथ धोखा कर रही है. उन्होंने कहा था कि पेट्रोल की कीमत पर 25 रुपये तक घटाए जा सकते हैं.