घट स्थापना, शुभ मुहूर्त और दिन किस देवी को प्रिय..

घट स्थापना, शुभ मुहूर्त और दिन किस देवी को प्रिय…….

हिन्दू पंचांग के अनुसार वर्षभर में दो बार नवरात्रि का त्यौहार मनाया जाता है। चैत्र मास में पड़ने वाले नवरात्रि को चैत्र नवरात्रि कहा जाता है और शरद ऋतु में पड़ने वाले नवरात्रि को शारदीय नवरात्रि के नाम से जाना जाता है। दोनों ही नवरात्रि में स्वीकृत शास्त्रीय नियम और पूजा विधि लगभग एक समान होती है। उदाहरण स्वरूप घट स्थापना मुहूर्त का, शारदीय नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि दोनों में ही ध्यान रखा जाता है।नवरात्रि के प्रारंभ में घट स्थापना का विशेष ध्यान रखा जाता है। हमारे पुराणों में भी नवरात्रि के पहले दिन घट स्थापना करने का महत्व वर्णित किया गया है। इसे शक्ति स्वरूपा के आवाहन के तौर पर देखा जाता है। शुभ मुहूर्त पर अगर घट स्थापना की जाए तो यह देवी का आशीर्वाद बन जाता है और अगर शुभ मुहूर्त का ध्यान रखे बिना घट स्थापना की जाए तो यह उनके क्रोध का कारण बनता है।

” घट स्थापना का शुभ

मुहूर्त 18 मार्च सुबह 6 बजकर 31 मिनट से लेकर 7 बजकर 46 मिनट तक है ”

पहला दिन: मां शैलपुत्री

दूसरा दिन: मां ब्रह्मचारिणी

तीसरा दिन: मां चंद्रघण्टा

चौथा दिन: माँ कुष्मांडा

पांचवां दिन: माँ स्कंदमाता

छठा दिन: माँ कात्यायनी

सातवां दिन: माँ कालरात्रि

आठवां दिन: माँ दुर्गा

नौंवा दिन: माँ दुर्गा के सिद्धिदात्री स्वरूप

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *