जम्मू-कश्मीरः महबूबा मुफ्ती की कैबिनेट में फेरबदल के बाद बने जम्मू-कश्मीर के नए डिप्टी सीएम कविंदर गुप्ता ने कठुआ गैंगरेप को लेकर बेहद शर्मनाक बयान दिया है. जब पत्रकारों ने राज्य के नए उपमुख्यमंत्री ने कठुआ गैंगरेप मामले में सवाल किया तो उन्होंने कहा कि ‘कठुआ मामला छोटी सी बात है इसको इतना तूल देना नहीं चाहिए’. हालांकि जल्द ही उन्होंने इस पर सफाई भी दे डाली उन्होंने कहा कि कठुआ मामला अदालत में है इस पर फैसला सुप्रीम कोर्ट करेगी. इस मुद्दे को बार-बार छेड़ना ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि मामले को तूल देना अच्छी बात नहीं है, इस तरह से कई मामले है. जानबूझकर इसको भड़काने की कोशिश नहीं की जानी चाहिए.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में भाजपा-पीडीपी की गठबंधन वाली सरकार में सोमवार (30 अप्रैल) को फेरबदल किया गया. इससे पहले 29 अप्रैल को बीजेपी के निर्मल के इस्तीफे के बाद से राज्य में डिप्टी सीएम का पद खाली हो गया था. निर्मल सिंह केक इस्तीफे के बाद कठुआ विधायक राजीव जसरोटिया समेत बीजेपी के पांच और विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह दी गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राज्य में हुए मंत्रिमंडल के फेरबदल पर जब बीजेपी नेता राम माधव से सवाल पूछा गया तो उनका कहना था कि इसका कठुआ में हुए गैंगरेप से कोई लेना-देना नहीं है. हम सिर्फ कुछ नए चेहरों को मौका देना चाहते थे. जबकि पूर्व डिप्टी सीएम ने इस मामले पर कहा कि राज्य में नए उपमुख्यमंत्री के लिए राह बनाने के लिए उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दिया है.

आपको बता दें कि कठुआ में नाबालिग के साथ हुए गैंगरेप की घटना के बाद ही पीडीपी-बीजेपी गठबंधन में तल्खी देखने को मिली थी. बीजेपी के दो मंत्रियों लाल सिंह और चंद्र प्रकाश गंगा पर आरोपियों के समर्थन में रैली में शामिल होने का आरोप लगा था. जिसके बाद इन दोनों मंत्रियों मे अपने पद से इस्तीफा दे दिया था.