एड,एसपी पर भारी महिला सूबेदार….

वरिष्ठ अधिकारियों के आदेश को भी ठेंगा दिखाती महिला सूबेदार

छिन्दवाड़ा :- शहर की ट्राफिक व्यवस्था का भगवान ही मालिक है ! शहर में बड़ते ट्राफिक का दवाव के चलते आम जनता का सडक पर चलना दूभर हो गया है रोजाना अनेको सडक दुर्घटनाए हो रही है जिसमे लोग अपनी जान गवां रहे है, इन सब के होते भी पुलिस कुम्भकर्णी नींद में सोई हुई है और तो और ताजुब्ब होता है की ट्राफिक सुधार की कमान नौसिखिये महिला सूबेदार शहर के व्यस्ततम चौराहे पर खड़े होकर सिर्फ टारगेट पूरा करने के लिए चलानी कार्यवाही कर रही है ना तो इनकी पर्सनाल्टी का प्रभाव ही लोगो को प्रभावित करता है और ना ही इन्हे बात करने का सलीका है ? और तो और बात बात पर अपने पुलिसिया रौव झाडती है इनकी विवादस्पद कार्यप्रणाली पुलिस की अप्रियतम छवि और दागदार चहरो की दास्ताँ समाज के लिए काफी है पुलिस प्रणाली की छवि जन लोकप्रिय करने के किये सूबे के पुलिस महानिदेशक प्रयासरत है परन्तु शहरों में पदस्त नौसिखिये पुलिस महानिदेशक की मंशा पर पलीता लगा रहे है ! इसका नजारा आज बस स्टेण्ड चौराहे को देखने को मिला जब इन महिला पुलिस अधिकारियों ने सारे कागजात होने के बाद भी शहर के एक वरिष्ठ पत्रकार से बेवजह हुज्जत कर चालानी कार्यवाही करने की हिमाकत की पत्रकार ने सारे कागजात जगह पर ही उपलव्ध करा दिए और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज सोनी से बात भी करा दी परन्तु इन मगरूर महिला सूबेदार कमला कुशवाह और वंदना राजावत अधिकारियों ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज सोनी की बात को नजरअंदाज कर २५० रुपयों का चालन की रसीद काट दी ! पुलिस अधिक्क्षक को संज्ञान लेना चाहिए की ऐसे नवसिखियो को शहर की यातायात व्यवस्था की कमान ना सौपी जाये और वेबजह लोगो को मानसिक और आर्थिक परेशानियों से निजात मिल सके !साथ ही पुलिस कर्मियों को तहजीब तमीज से पेश आने की हिदायत दी जाय ! पुलिस की इन्ही सब हरकतों की वजह से लोगो में इनकी छवि वर्दी धारी गुंडों जैसी है !

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.