गौरतलब है कि लव जिहाद के नाम पर हंगामा करने वाली पार्टी बीजेपी के कई नेता इस कार्यकर्म में मौजूद थे. जिनकी मौजूदगी में इस आदिवासी लड़की का निकाह मुस्लिम युवक से पढ़ाया गया. इस कार्यक्रम में केंद्रीय राज्य मंत्री सुदर्शन भगत, मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते, राज्यसभा सांसद संपतिया उइके, जिले की कलेक्टर सूफिया फारुकी सहित प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में रस्मों रिवाज के साथ निकाह संपन्न करवाया गया. इस निकाह के बाद से कई सवाल उठे हैं.

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में विवाह समारोह के दौरान मंडला कलेक्टर सूफिया फारुकी और राज्यसभा सांसद संपतिया उइके ने आदिवासियों के साथ जमकर ठुमके भी लगाए. ज्ञात होकि तीन दिवसीय आदि उत्सव के समापन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अंतर्गत करीब 1000 से अधिक जोड़ों का विवाह कराया गया था. गौरतलब है कि मंडला जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत अपना नंबर बढ़ाने के लिए हजारों की तादात में विवाह का आयोजन किया जाता है और टारगेट पूरा करने के चक्कर में अधिकारी कहीं शादीशुदा तो कहीं नाबालिग जोड़ों का विवाह करवाने में भी कोई गुरेज नहीं होता हैं.