जोधपुरः-  नाबालिग लड़की से बलात्कार करने के आरोप में आजीवन जेल की सजा पाने वाले आसाराम का कहना है कि उनकी नजर में ये सब करना अपराध नहीं है. आसाराम का मानना है कि उसके जैसे ‘ब्रह्मज्ञानी’ का किसी लड़की का यौन शोषण करना अपराध नहीं है. ये बातें इस मामले में गवाह राहुल के. सचान ने ट्रायल कोर्ट में चली कार्रवाई के दौरान कही थीं. सचान ने अपनी गवाही में ये भी बताया कि आसाराम अपनी सेक्स पावर बढ़ाने के लिए कामोत्तेजक दवाओं का सहारा लेता था. जिसको मंगाने के लिए वह अपनी सेविकाओं से कोर्डवर्ड में बात किया करता था. यौन शक्ति बढ़ाने की दवाओँ को वह ‘पंचेद बूटी’ कहकर इशारा करता था.

राहुल के.सचान आसाराम का भक्त रहा है लेकिन सच जानने के बाद वो उससे अलग हो गया था. राहुल का ये बयान उस लंबे बयान का एक हिस्सा है जो आसाराम और उसके दो सहयोगियों को पांच साल पहले एक नाबालिग के साथ बलात्कार के आरोप में सजा सुनाने के लिए अदालत की ओर से दर्ज किया गया था. राहुल की पहुंच आसाराम की कुटिया तक थी. सचान ने आसाराम के खिलाफ गवाही देते हुए कहा था कि उसने आसाराम को देशभर के आश्रमों में लड़कियों का यौन शोषण करते हुए अपनी आंखो से देखा था. इन आश्रमों में राजस्थान में पुष्कर, हरियाणा में भिवानी और गुजरात अहमदाबाद के आश्रम शामिल हैं.