विवाह के साथ रोजगार भी………

छिंदवाड़ा // इस वर्ष  29 अप्रैल 2018 दिन रविवार जिला डेहरिया मेहरा समाज सुधार समिति छिंदवाड़ा के विशाल युवा संगम के तत्वाधान में पंकज स्टेडियम चांदामेटा परासिया में होने जा रहे 17 वे सजातिय वैवाहिक सम्मेलन में जिले के जन जन के लाडले संपूर्ण देश के लोकप्रिय सांसद  कमलनाथ जी के माध्यम से लगेगा रोजगार शिविर। एक ही मंच के निचे विवाह भी और रोजगार भी प्राप्त होगा।
ज्ञात हो की डेहरिया मेहरा समाज सुधार समिति छिन्दवाड़ा युवाओ के रोजगार हेतु पूर्व से ही प्रयासरत है जिला डेहरिया (मेहरा) समाज सुधार समिति जिला छिन्दवाड़ा द्वारा विगत 24 अप्रैल 2016 को जनपथ ग्राउंड छिन्दवाड़ा एवम 23 अप्रैल 2017 को गांगीवाड़ा (छिन्दवाड़ा) में आयोजित “युवा संगम” कार्यक्रम जिसमे प्रादेशिक “युवती-युवती और अभिभावक परिचय” और “सजातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन” में सजातीय युवाओ को रोजगार प्रदान करवाने के उद्देश्य को लेकर समिति द्वारा छिन्दवाड़ा के लाडले सांसदकमलनाथ जी के सहयोग से छिन्दवाड़ा में स्थित राष्ट्रीय स्तर के स्किल सेंटर जिनमे
(1) सी.आई.आई – स्किल्स ट्रेंनिंग सेंटर,
(2) आई.एल. एण्ड एफ. एस. स्किल्स डेवलपमेंट सेंटर
(3) अपैरल ट्रेनिंग एन्ड डिजाइन, सेंटर,
(4) अशोक लीलैंड इंस्टीट्यूट ऑफ ड्राइविंग ट्रेनिंग एन्ड रिचर्स
(5) फुटवियर डिजाइन एन्ड डेवलपमेंट इंस्टिट्यूट (F.D.D.I.)
(6) एन. आई.आई.टी. (N.I.I.T. Foundation)
फाउंडेशन छिन्दवाड़ा और बड़कुही
(7) अम्बुजा सीमेंट फाउंडेशन
जैसे राष्ट्रीय स्तर के संस्थानो के माध्य्म से 2016 और 2017 दो वर्षों से *”रोजगार शिविर” का आयोजन किया जा रहा है। इन रोजगार शिविर में संस्थानो के प्रतिनिधि कार्यक्रम के दौरान पूरे समय उपस्थित रहते है।और हमारे समाज के युवाओ को संस्थानो की विभिन्न कॉर्स की जानकारी, टेनिंग की समयावधि, संस्थानो की सुविधाओं,प्लेसमेंट की जानकारी प्रदान कर उनका पंजीयन करते है।इन संस्थानों में देश भर के युवा हमेशा विभिन्न कोर्सो में प्रशिक्षण प्राप्त करते है। इन संस्थानों की महत्वता का पता इस बात से ही चलता है कि इन संस्थानों में से 4 संस्थानो जिनमे (1) सी.आई.आई स्किल सेंटर
(2) अपैरल ट्रेनिंग एण्ड डिजाइन सेंटर (A.T.D.C.),
(3) आई.एल. एन्ड एफ.एस. स्किल्स डेवलपमेंट
(4) अशोक लीलैंड इंस्टिट्यूट ऑफ ड्राइविंग ट्रेनिंग एन्ड रिसर्च
में विगत 14 दिसम्बर 2016 को भारत के महामहिम राष्ट्रपति श्री प्रणव मुखर्जी स्वयं उपस्थित हुए थे।जबकि देश की आज़ादी के बाद छिन्दवाड़ा की पावन धरती में पहली बार महामहिम राष्ट्रपति का आगमन हुआ था। और महामहिम का छिन्दवाड़ा आगमन इन्ही स्किल सेंटरो के लिए हुआ। इन संस्थानों की विशेषता यह है कि इनमें हर प्रकार के एजुकेशन जैसे पांचवी, आठवी, दसवीं, बारहवीं, स्नातक, स्नातकोत्तर एवम अन्य तकनीकी शिक्षा प्राप्त युवाओ के लिए कई प्रकार के ट्रेनिंग कोर्स और ट्रेनिंग के पश्चात कंपनियों में प्लेसमेंट के बाद रोजगार उपलब्ध है। अगर कोई युवा कंपनियों में जॉब नही भी करना चाहते है तो वो ट्रेनिंग पूरी करने और दक्षता प्राप्त करने के बाद स्वयं का व्यवसाय स्थापित कर स्वरोजगार प्राप्त कर सकते है।हमे बड़ी प्रसन्न्ता है कि इन रोजगार शिविरों के माध्यम से हमारे समाज के कई युवाओ ने इन स्किल्स सेंटरो में प्रवेश लिया और कुछ समय की ट्रेनिंग करने के पश्चात इन्हें विभिन्न राष्ट्रीय/बहुराष्ट्रीय कंपनियों में प्लेसमेंट कर रोजगार प्रदान किया गया।

Share News

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.