जोधपुर :-  आध्यात्मिक गुरु और कथावाचक आसाराम का नाबालिग से रेप मामले में आज जोधपुर कोर्ट का फैसला सामने आ चुका है. आसाराम समेत 3 लोगों को कोर्ट ने दोषी करार दिया है. वहीं अन्य दो आरोपी शिवा और प्रकाश को कोर्ट ने बरी कर दिया है.  बता दें इन पांचों पर 16 साल की लड़की ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाए गए थे जिसके बाद दिल्ली के कमला मार्केट थाने में दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया गया, हालांकि इसके बाद मामले को जोधपुर ट्रांसफर कर दिया गया. 31 अगस्त 2013 को जोधपुर पुलिस ने आसाराम को गिरफ्तार किया और पॉक्सो के तहत मामला दर्ज किया. फिलहाल आसाराम जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद हैं, जिनकी सजा पर आज फैसला होगा.

आसाराम की सजा पर फैसला :- 12:55 pm: दोषी करार दिए जाने के बाद सजा पर बहस के दौरान अदालत ने स्वघोषित धर्मगुरु आसाराम को कहा पाखंडी, थोड़ी देर में सजा का एलान, पीड़ित पक्ष ने अधिकतम सजा के साथ-साथ मुआवजे की भी की मांग

12:21PM: कांग्रेस नेता व राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि अब समय आ गया है कि लोग सही और गलत के बारे में अंतर समझे. लोगों को सच्चे और धोखेबाज संतों की बीच अंतर जानना चाहिए. इस तरह की चीजों की वजह से देश की छवि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खराब होती है.

12:05PM:  सजा के ऐलान को लेकर कोर्ट में बहस शुरू, आसाराम के वकील ने आसाराम की सेहत और सामाजिक कार्यो का हवाला देते हुए कहा कि उसे कम से कम सज़ा दी जाए, साथ ही ये भी कहा कि उनके लाखों भक्त हैं उनकी भावनाओं का खयाल भी रखा जाए, इनके मुताबिक ज्यादा सज़ा देने से समाज मे गलत संदेश जाएगा.

11:46Am : 15 अगस्त 2013 को स्वतंत्रता दिवस के दिन आसाराम ने नाबालिग को बनाया था हवस का शिकार, 4 साल आठ महीने के लंबे इंतजार के बाद दोषी करार

11:17AM: पीड़िता के पिता ने कहा कि उन्हें देश की न्याय व्यवस्था पर पूरा विश्वास था, हम चाहते हैं कि आसाराम को कड़ी से कड़ी सजा मिले.

11:14AM: मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जोधपुर कोर्ट में आसाराम समेत अन्य आरोपियों की सजा पर बहस शुरू हो गई है. बतौर मीडिया आसाराम के वकीलों ने कम सजा की मांग की है.

10:42AM : अदालत ने आसाराम को इस मामले में दोषी करार दिया है. शिवा और प्रकाश को कोर्ट ने बरी कर दिया है. आसाराम समेत 3 लोगों को अदालत ने दोषी करार दिया है.

10.38 AM: 16 साल की छात्रा से रेप मामले में कोर्ट की सुनवाई शुरू हो गई है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार स्पेशल कोर्ट में जज मधुसूदन शर्मा ने फैसला लिखना आरंभ कर दिया है. इस दौरान कोर्ट में 5 आरोपी और वकील मौजूद हैं.

9:50 AM: पुलिस ने हंगामा कर रहे 6 समर्थकों को हिरासत में लिया.  जोधपुर में धारा 144 लागू है. इस इलाके से गुजरने वाले हर शख्स की तलाशी ली जा रही है. आसाराम के जोधपुर के आश्रम को भी खाली करवा लिया गया है.

9.20 AM: आसाराम के सहआरोपी अपने वकीलों के साथ कोर्ट पहुंचे. आसाराम समेत शिवा उर्फ सवाराम, प्रकाश द्विवेदी, शिल्पी उर्फ संचिता गुप्ता, शरदचंद्र उर्फ शरतचंद्र इस कांड में शामिल होने का आरोप है.

8.50AM:इस मामले में आसाराम मुख्य आरोपी हैं, इसके साथ ही शिवा उर्फ सवाराम (आसाराम का प्रमुख सेवादार), प्रकाश द्विवेदी (आश्रम का रसोइया), शिल्पी उर्फ संचिता गुप्ता(सेविका), शरदचंद्र उर्फ शरतचंद्र समेत पांच आरोपी हैं. आसाराम और उनके सेवादार प्रकाश को छोड़कर बाकी सभी जमानत पर हैं.

8:40 AM :राजस्थान से पुलिस ने आसाराम के एक समर्थक को हिरासत में लिया है. जो फूलों की माला लिए जोधपुर सेंट्रल जेल पहुंचा था. बता दें राजस्थान में मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं.

8.15 AM : आसाराम पर सजा की सुनवाई सुबह 8.30 बजे जोधपुर कोर्ट में शुरू होगी. एससी\एसटी स्पेशल कोर्ट के जज मधुसूदन शर्मा कोर्ट पहुंच चुके हैं. जज मधुसूदन शर्मा को पुलिस की ओर से कड़ी सुरक्षा उपलब्ध कराई गई है. बता दें आज सेंट्रल जेल में ही कोर्ट लगी है जहां नाबालिग से दुष्कर्म मामले में कोर्ट अपना फैसला सुनाएगा. वहीं राम रहीम मामले को देखते हुए राज्य सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हुए हैं व पूरे इलाके को छावनी तब्दील कर दिया गया है.